1. Home
  2. Bewafa Shayari
  3. Bewafa Shayari Bewafai Ki Wajah

Bewafa Shayari, Bewafai Ki Wajah

दो लाईन में हिंदी बेवफाई शायरी

By | 09 Mar 2016 |
Bewafa Shayari, Bewafai Ki Wajah
Ads by Google

Meri Aankho Se Behne Wala Yeh Awara Sa Aansoo,
Poochh Raha Hai Palkon Se Teri Bewafai Ki Wajah.
मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ
पूछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

Meri Mohabbat Sachchi Hai Iss Liye Teri Yaad Aati Hai,
Agar Teri Bewafai Sachchi Hai Toh Ab Yaad Mat Aana.
मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,
अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।

Jaate Jaate Uss Ne Palatkar Sirf Itna Kaha Mujh Se,
Meri Bewafai Se Hi Mar Jaoge Ya Maar Ke Jaaun.
जाते जाते उसने पलटकर सिर्फ इतना कहा मुझसे,
मेरी बेवफाई से ही मर जाओगे या मार के जाऊं।

Ads by Google

Kho Gayi Meri Mohabbat Bewafai Ke Daldal Mein,
Magar Inn Aankho Ko Ab Bhi Wafa Ki Talash Hai.
खो गयी मेरी मोहब्बत, बेवफ़ाई के दलदल में,
मगर इन आँखो को अब भी वफ़ा की तलाश है।

Itna Hi Guroor Hai To Muqabla Ishq Se Kar Ai Bewafa,
Husn Par Kya Itrana Jo Bas Mehman Hai Kuchh Din Ka.
इतना ही गुरुर है तो मुकाबला इश्क से कर ऐ बेवफा,
हुस्न पर क्या इतराना जो बस मेहमान है कुछ दिन का।

Bewafa Kehne Se Pehle Meri Rag Rag Ka Khoon Nichod Lene,
Katre Katre Mein Wafa Na Mile To Beshak Mujhe Chhod Dena.
बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना,
कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना।

Ads by Google

Bewafai Shayari, Mashq-E-Sitam Ka Malaal

Bewafa Shayari, Wafa Ke Badle Bewafai