1. Home
  2. Dard Bhari Shayari
  3. Dard Shayari Dard Humne Sambhala

Dard Shayari, Dard Humne Sambhala

All Time New Hindi Sher-o-Shayari on Dard

By | | Dard Bhari Shayari
Dard Shayari, Dard Humne Sambhala
Ads by Google

Dard Humne Sambhala Hai Humne Aansu Bahaye Hain,
Beshak Wajah Tum The Par Dil Toh Humara Tha.
दर्द हमने संभाला है हमने आँसू बहाए हैं,
बेशक वजह तुम थे पर दिल तो हमारा था।


Yeh Bhi Ek Zamana Dekh Liya Hai Humne,
Dard Jo Sunaya Apna Toh Taliyan Baj Uthhi.
यह भी एक ज़माना देख लिया है हम ने,​
​दर्द जो सुनाया अपना तो तालियां बज उठीं​।


Woh Meri Ghazal Parh Ke Pahlu Badal Ke Bole,
Koi Cheene Qalam Inse Yeh Jaan Le Lete Hain.
वो मेरी ग़ज़ल पढ़ कर पहलू बदल के बोले,
कोई छीने क़लम इनसे ये तो जान ले चले हैं।


Tum Na Kar Sakoge Mere Dard Ka ilaaj,
Zakhm Ko Nasoor Huye Muddatein Gujar Gayi.
तुम न कर सकोगे मेरे दिल के दर्द का इलाज़,
ज़ख्म को नासूर हुए मुद्दतें गुजर गयीं।


Lafz-e-Tasalli Toh Bas Ek Takalluf Hai,
Jiska Dard Uska Dard Baaki Sab Afsaane.
लफ्ज़-ए-तसल्ली तो बस एक तकल्लुफ है,
जिसका दर्द उसका दर्द बाकी सब अफ़साने।

Ads by Google

Loading...

Ads by Google

Dard Shayari, Dard Ke Nishaan

Dard Shayari, Dard Be Asar Mera