1. Home
  2. Dard Bhari Shayari
  3. Dard Shayari Hansi Mein Bhi

Dard Shayari, Hansi Mein Bhi Dard

Very Painful Shayaris in Four Lines

By | | Dard Bhari Shayari
Dard Shayari, Hansi Mein Bhi Dard
Ads by Google

Yun Toh Har Ek Dil Mein Dard Naya Hota Hai,
Bas Bayaan Karne Ka Andaaz Juda Hota Hai,
Kuchh Log Aankhon Se Dard Bahaa Lete Hain,
Aur Kisi Ki Hansi Mein Bhi Dard Chhupa Hota Hai.
यूँ तो हर एक दिल में दर्द नया होता है,
बस बयान करने का अंदाज़ जुदा होता है,
कुछ लोग आँखों से दर्द को बहा लेते हैं
और किसी की हँसी में भी दर्द छुपा होता है।


Har Dard Ko Dafan Kar Gehrayi Mein Kahin,
Do Pal Ke Liye Sab Kuchh Bhulaya Jaaye,
Rone Ke Liye Ghar Mein Kone Bahut Se Hain,
Aaj Mehfil Mein Chalo Sabko Hansaya Jaaye.
हर दर्द को दफ़न कर गहराई में कहीं,
दो पल के लिए सब कुछ भुलाया जाए,
रोने के लिए घर में कोने बहुत से हैं,
आज महफ़िल में चलो सबको हंसाया जाए।

Ads by Google

Dard Shayari, Dard Ki Numaish

Dard Shayari, Dard Ki Wajah Woh Hain

Ads by Google
Loading...