1. Home
  2. Dard Bhari Shayari
  3. Dard Shayari Maine Dard Ko Chaha

Dard Shayari, Maine Dard Ko Chaha

Very Sad Painful Shayari in 2 Lines

By | 20 Dec 2015 |
Ads by Google

Nafarat Karna To Humne Kabhi Seekha Hi Nahi,
Maine To Dard Ko Bhi Chaha Hai Apna Samajh Kar.
नफ़रत करना तो हमने कभी सीखा ही नहीं,
मैंने तो दर्द को भी चाहा है अपना समझ कर।

Ro Pilata Hu Ek Zahar Ka Pyala Use,
Ek Dard Jo Dil Mein Hai Marta Hi Nahi Hai.
रोज़ पिलाता हूँ एक ज़हर का प्याला उसे,
एक दर्द जो दिल में है मरता ही नहीं है।

Ab Na Puchhna Ki Yeh Alfaz Kahan Se Lata Hun,
Kuchh Churata Hun Dard Dusron Ke Kuchh Apni Sunata Hun.
अब ये न पूछना कि ये अल्फ़ाज़ कहाँ से लाता हूँ,
कुछ चुराता हूँ दर्द दूसरों के कुछ अपनी सुनाता हूँ।

Ads by Google

Isi Khayal Se Gujri Hai Shaam-e-Gham Aksar,
Ki Dard Had Se Jo Gujrega To Muskura Dunga.
इसी ख्याल से गुज़री है शाम-ए-ग़म अक्सर,
कि दर्द हद से जो गुज़रेगा तो मुस्कुरा दूंगा।

Bayaan Karna Mohabbat Ko Aasaan Na Hua Tha,
Ye To Dard Hai Kaise Kah Du Ki Tumne Diya Hai.
बयाँ करना मोहब्बत को आसान ना हुआ था,
ये तो दर्द है कैसे कह दूँ कि ये तुमने दिया है।

Ads by Google

Dard Shayari, Rota Hai Dil

Dard Bhari Shayari, Dard Ki Shiddat

loading...