Read Dard Shayari in Hindi

Dard Shayari, Usne Munh Mod Liya

Hindi Painful Shayari, Sms and Facebook Status

Dard Shayari, Usne Munh Mod Liya

Humein Dekh Kar Jab Usne Munh Mod Liya,
Ek Tasalli Ho Gayi Chalo Pehchante Toh Hain.
हमें देख कर जब उसने मुँह मोड़ लिया,
एक तसल्ली हो गयी चलो पहचानते तो हैं।

Ab Dard Uthha Hai Toh Ghazal Bhi Hai Jaroori,
Pehle Bhi Hua Karta Tha Iss Baar Bahut Hai.
अब दर्द उठा है तो गज़ल भी है जरूरी,
पहले भी हुआ करता था इस बार बहुत है।

...Read More Shayaris

Advertisement

Shayari Dard Chhupate Rahe

Touching Shayari about Secret Pain of Love

Shayari Dard Chhupate Rahe

Woh Toh Apna Dard Ro-Ro Kar Sunate Rahe,
Humari Tanhayion Se Bhi Aankh Churate Rahe.
Humein Hi Mil Gaya Khitab-e-Bewafa Kyunki,
Ham Har Dard Muskura Kar Chhupate Rahe.
वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,
हमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकि,
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।

...Read More Shayaris

Advertisement

Dard Shayari, Dard Ke Nishaan

Hindi Dard Bhari Shayari expressing Painful Sentiments of Heart

Dard Shayari, Dard Ke Nishaan

Hanste Huye Zakhnon Ko Bhulane Lage Hain Hum,
Har Dard Ke Nishaan Mitaane Lage Hain Hum,
Ab Aur Koi Zulm Satayega Kya Bhala,
Zulmon Sitam Ko Ab Toh Satane Lage Hain Hum.
हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम,
हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम,
अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला,
ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम।

...Read More Shayaris

Dard Shayari, Dard Humne Sambhala

All Time New Hindi Sher-o-Shayari on Dard

Dard Shayari, Dard Humne Sambhala

Dard Humne Sambhala Hai Humne Aansu Bahaye Hain,
Beshak Wajah Tum The Par Dil Toh Humara Tha.
दर्द हमने संभाला है हमने आँसू बहाए हैं,
बेशक वजह तुम थे पर दिल तो हमारा था।

Zeher Deta Hai Koi Davaa Deta Hai,
Jo bhi Milta Hai Mera Dard Barha Deta Hai.
ज़हर देता है कोई कोई दवा देता है,
जो भी मिलता है मेरा दर्द बढ़ा देता है।

...Read More Shayaris

Advertisement

Dard Shayari, Dard Be Asar Mera

Shayaris abaout Hidden Pain in Depth of Heart

Manzilon Se Begana Aaj Bhi Safar Mera,
Hai Raat Besahar Meri Dard BeAsar Mera.
मंजिलों से बेगाना आज भी सफ़र मेरा,
है रात बेसहर मेरी दर्द बेअसर मेरा।

Ab Toh Haathon Se Lakeerein Bhi Miti Jati Hain,
Usey Khokar Mere Paas Raha Kuchh Bhi Nahi.
अब तो हाथों से लकीरें भी मिटी जाती हैं,
उसे खोकर मेरे पास रहा कुछ भी नहीं।

...Read More Shayaris