1. Home
  2. Hindi Shayari
  3. Ehsaas Shayari Collection

Ehsaas Shayari Collection

हिंदी में अहसास शायरी

By | | Hindi Shayari
Ads by Google

Yeh Mat Puchh Ke Ehsaas Ki Shiddat Kya Thi,
Dhoop Aisi Thi Ki Saaye Ko Bhi Jalte Dekha.
ये मत पूछ के एहसास की शिद्दत क्या थी,
धूप ऐसी थी के साए को भी जलते देखा।


Itni Chaahat Ke Baad Bhi Tujhe Ehsaas Na Hua,
Jara Dekh Toh Le Dil Ki Jagah Patthar Toh Nahi.
इतनी चाहत के बाद भी तुझे एहसास ना हुआ,
जरा देख तो ले दिल की जगह पत्थर तो नहीं।


Takleef Mit Gayi Magar Ehsaas Reh Gaya,
Khush Hoon Ki Kuchh Na Kuchh To Mere Paas Reh Gaya.
तकलीफ़ मिट गई मगर एहसास रह गया,
ख़ुश हूँ कि कुछ न कुछ तो मेरे पास रह गया।


Jagna Bhi Kabool Hai Teri Yaadon Mein Raat Bhar,
Tere Ehsaason Mein Jo Sukoon Hai Woh Neid Mein Kahan.
जागना भी कबूल है तेरी यादों में रात भर,
तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ।


Wajood Sheeshe Ka Ho Toh Pattharon Se Mohabbat Nahi Karte,
Ehsaas-e-Chahat Na Mile Toh Hasti Bikhar Jati Hai.
वजूद शीशे का हो तो पत्थरों से मोहब्बत नहीं करते,
एहसास-ए-चाहत ना मिले तो हस्ती बिखर जाती है।


Kitna Pyar Hai Tumse Woh Lafzon Ke Sahare Kaise Bataun,
Mahsoos Kar Mere Ehsaas Ko Gawahi Kahan Se Laaun.
कितना प्यार है तुमसे वो लफ़्ज़ों के सहारे कैसे बताऊँ,
महसूस कर मेरे एहसास को गवाही कहाँ से लाऊं।


Yeh Kaisi Roshni Hai Ke Ehsaas Bujhh Gaya,
Har Aankh Puchhti Hai Ke Manzar Kahan Gaye.
ये कैसी रोशनी है कि एहसास बुझ गया​​,
​हर आँख पूछती है कि मंज़र कहाँ गए​​।


Ehsaas-E-Mohabbat Ke Liye Bas Itna Hi Kaafi Hai,
Tere Bagair Bhi Hum Tere Hi Rahte Hain.
एहसास-ए-मुहब्बत के लिए बस इतना ही काफी है,
तेरे बगैर भी हम, तेरे ही रहते हैं।


Apni Halat Ka Khud Ehsaas Nahi Mujhko,
Maine Auron Se Suna Hai Ki Pareshan Hun Main.
अपनी हालात का ख़ुद अहसास नहीं मुझको,
मैंने औरों से सुना है कि परेशान हूं मैं।


Mere Liye Ehsaas Mayne Rakhta Hai,
Rishte Ka Naam Chalo Tum Rakh Lo.
मेरे लिए अहसास मायने रखता है,
रिश्ते का नाम चलो तुम रख लो।


Aye Khuda Log Banaye The Patthar Ke Agar,
Mere Ehsaas Ko Sheeshe Ka Na Banaya Hota.
ऐ खुदा लोग बनाये थे पत्थर के अगर,
मेरे एहसास को शीशे का न बनाया होता।

Ads by Google

Loading...

Ads by Google

Hindi Shayari, Khushboo Basi Usi Ki Hai

Hontho Pe Sajana Chahata Hu