Hindi Shayari on Intezaar

Ads by Google

Intezaar Shayari, Kab Laut Ke Aate Hain

Shayari Sms in Two Line on Intezaar

Bas Yun Hi Umeed Dilate Hain Zamane Wale,
Kab Laut Ke Aate Hain Chhod Kar Jaane Wale.
बस यूँ ही उम्मीद दिलाते हैं ज़माने वाले,
कब लौट के आते हैं छोड़ कर जाने वाले।


Dil Jalao Ya Diye Aankhon Ke Darwaze Par,
Waqt Se Pehle Toh Aate Nahi Aane Wale.
दिल जलाओ या दिए आँखों के दरवाज़े पर,
वक़्त से पहले तो आते नहीं आने वाले।

...Read More Shayaris

Intezaar Shayari, Jagte Rehne Ka Sila

Awesome Intezaar Shayari and Sms in Hindi

Raat Bhar Jagte Rehne Ka Sila Hai Shayad,
Teri Tasveer Si Mahtaab Mein Aa Jati Hai.
रात भर जागते रहने का सिला है शायद,
तेरी तस्वीर सी महताब में आ जाती है।


Na Koi Vaada Na Koi Yakeen Na Koi Umeed,
Magar Humein Toh Tera Intezaar Karna Tha.
न कोई वादा न कोई यक़ीं न कोई उम्मीद,
मगर हमें तो तेरा इंतज़ार करना था।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Intezaar Shayari, Main Raah Dekhta Raha

Hindi Poetry on Waiting eagerly

Tamaam Raat Mere Ghar Ka Ek Dar Khula Raha,
Main Raah Dekhta Raha Woh Rasta Badal Gaya.
तमाम रात मेरे घर का एक दर खुला रहा,
मैं राह देखता रहा वो रास्ता बदल गया।


Kabhi Toh Chaunk Ke Dekhe Koi Humari Taraf,
Kisi Ki Aankh Mein Humko Bhi Intezar Dikhe.
कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ़,
किसी की आँख में हमको भी इंतज़ार दिखे।

...Read More Shayaris

Intezaar Shayari, Intezaar Tere Laut Aane Ka

Very Good Shayari about Intezaar of Someone Special

Kisi Roz Hogi Roshan, Meri Bhi Zindgi,
Intzaar Subah Ka Nahi Tere Laut Aane Ka Hai.
किसी रोज़ होगी रोशन, मेरी भी ज़िंदगी,
इंतज़ार सुबह का नही, तेरे लौट आने का है।


Palkon Par Ruka Hai Samandar Khumaar Ka,
Kitna Ajab Nasha Hai Tere Intezaar Ka.
पलकों पर रूका है समन्दर खुमार का,
कितना अजब नशा है तेरे इंतजार का।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Intezaar Shayari, Ajnabi Ka Intezaar

Cool Shayaris Expressing Sentiments While Waiting Someone

Ek Ajnabi Se Mujhe Itna Pyaar Kyu Hai,
Inkar Karne Par Chahat Ka Ikraar Kyu Hai,
Use Paana Nahi Meri Taqdeer Mein Shayad,
Phir Har Mod Par Uska Intezar Kyon Hai.
एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यूँ है,
इन्कार करने पर चाहत का इकरार क्यूँ है,
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद,
फिर भी हर मोड़ पर उसका इंतजार क्यूँ है।

...Read More Shayaris
Loading...