1. Home
  2. Mausam Shayari
  3. Hindi Mein Garmi Ke Dohe

Hindi Mein Garmi Ke Dohe

हिंदी में गर्मी के मौसम पर दोहे पढ़ें

By | 30 Mar 2016 |
Ads by Google

इस गर्मी में रात दिन जब बहे पसीना धार।
आइसक्रीम और कुल्फी की मची रहे भरमार।

रहिमन कूलर राखिये बिन कूलर सब सून।
कूलर बिना ना किसी को, गर्मी में मिले सुकून।

एसी जो देखन मैं गया एसी ना मिलया कोय।
जब घर लौटा आपने गर्मी में ऐसी-तैसी होय।

तपती गर्मी देख के, गया सबका मन घबराय।
जितनी एसी पंखे हैं सब इक इक ल्यो कब्जाय।

बिजली का बिल देखकर दिया कबीरा रोय।
कूलर एसी के फेर में खाता बचा ना कोय।

बाट ना देखिए एसी की चला लीजिए फैन।
चार दिनों की बात है फिर आगे सब चैन।

पंखा झेलत रात गई आई ना लेकिन लाईट।
मच्छर गाते रहे कान में गाना तंदूरी नाईट।

Ads by Google

Sad Mausam Shayari, Mausam Ki Adaa

Barish Shayari, Mausam Pyaar Jagata Hai