Shayari on Maut

Maut Shayari, Mar Ke Dikhana Pada

Touching Sad Maut Shayari in Hindi and English Font

Maut Shayari, Mar Ke Dikhana Pada

Wo Kar Nahi Rahe The Meri Baat Ka Yakeen,
Phir Yun Hua Ke Mar Ke Dikhana Pada Mujhe.
वो कर नहीं रहे थे मेरी बात का यकीन,
फिर यूँ हुआ के मर के दिखाना पड़ा मुझे।


Tu Badnaam Na Ho Isliye Jee Raha Hun Main,
Varna Marne Ka Irada Toh Roj Hota Hai.
तू बदनाम ना हो इसलिए जी रहा हूँ मैं,
वरना मरने का इरादा तो रोज होता है।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Maut Shayari, Kabr Pyaar Ki Nishani

Shayari about Death in Love. Very Sad Collection in Hindi and English Font

Na Udhaao Yun Thokro Mein Meri Khak-e-Kabr Zalim,
Yehi Ek Rah Gayi Hai Mere Pyaar Ki Nishaani.
न उड़ाओ यूं ठोकरों से मेरी खाके कब्र ज़ालिम,
यही एक रह गई है मेरे प्यार की निशानी।


Umr Tamaam Bahaar Ki Ummid Mein Gujar Gayi,
Bahaar Aayi Hai Toh Maut Ka Paigaam Layi Hai.
उम्र तमाम बहार की उम्मीद में गुजर गयी,
बहार आई है तो पैगाम मौत का लाई है।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Maut Shayari, Mitti Meri Kabr Se

Hindi Shayari on Death, Very Sad

Mitti Meri Kabr Se Uthha Raha Hai Koi,
Marne Ke Baad Bhi Yaad Aa Raha Hai Koi,
Kuchh Pal Ki Mohlat Aur De De Aye Khuda.
Udaas Meri Kabr Se Ja Rahaa Hai Koi.
मिट्टी मेरी कब्र से उठा रहा है कोई,
मरने के बाद भी याद आ रहा है कोई,
कुछ पल की मोहलत और दे दे ऐ खुदा,
उदास मेरी कब्र से जा रहा है कोई।

...Read More Shayaris

Maut Shayari, Woh Kafan Ka Saamaan Le Aaye

Heart Touching Shayaris on Death in Hindi and English Font

Vaade Bhi Usne Kya Khoob Nibhaye Hain,
Zakhm Aur Dard Tohfe Mein Bhijwaye Hain,
Iss Se Badkar Wafa Ki Misaal Kya Hogi,
Maut Se Pehle Kafan Ka Saamaan Le Aaye Hain.
वादे भी उसने क्या खूब निभाए हैं,
ज़ख्म और दर्द तोहफे में भिजवाए हैं,
इस से बढ़कर वफ़ा कि मिसाल क्या होगी,
मौत से पहले कफ़न का सामान ले आये हैं।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Maut Shayari, Khuda Meri Hasti Mita De

Poetry about asking God for death

Maut Shayari, Khuda Meri Hasti Mita De

Kitna Aur Dard Dega Bas Itna Bata De,
Aisa Kar Aye Khuda Meri Hasti Mita De,
Yun Ghut-Ghut Ke Jeene Se Maut Behtar Hai,
Main Kabhi Na Jagun Mujhe Aisi Neend Sula De.
कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे,
ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे,
यूं घुट घुट के जीने से तो मौत बेहतर है,
मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे।

...Read More Shayaris