Hindi Shayari on Nafarat

Ads by Google

Nafrat Shayari, Mohabbat Aur Nafrat

मोहब्बत और नफरत पर दो लाईन की शायरी

Na Mohabbat Sabhali Gayi, Na Nafraten Pali Gayi,
Afsos Hai Uss Zindagi Ka, Jo Tere Peechhe Khali Gayi.
न मोहब्बत संभाली गई, न नफरतें पाली गईं,
अफसोस है उस जिंदगी का, जो तेरे पीछे खाली गई।


Jyada Kuchh Nahi Badla, Unke Aur Mere Beech Me,
Pahle Nafrat Nahi Thi, Ab Mohabbat Nahi Hai.
ज्यादा कुछ नहीं बदला, उनके और मेरे बीच में,
पहले नफरत नहीं थी, अब मोहब्बत नहीं हैं।

...Read More Shayaris

Nafrat Shayari in Hindi, Nafrat Bata Rahi Hai

New 2 Line Shayari in Hindi about Hate

Dekh Kar Usko Tera Yoon Palat Jana,
Nafrat Bata Rahi Hai, Tune Mohabbat Ghazab Ki Ki Thi.
देख कर उसको तेरा यूँ पलट जाना,
नफरत बता रही है तूने मोहब्बत गज़ब की की थी।


Nafrat Karne Wale Bhi Ghazab Ka Pyar Karte Hain,
Jab Bhi Milte Hain Ki Tujhe Chhodenge Nahin.
नफरत करने वाले भी गज़ब का प्यार करते हैं,
जब भी मिलते है कहते हैं कि तुझे छोड़ेंगे नहीं।

...Read More Shayaris
Loading...