Hindi Sher-o-Shayari

Two Line Shayari, Mohabbat Ke Kafile

Mohabbat Ke Kafile Ko Kuchh Der Toh Rok Lo,
Aate Hain Hum Bhi Paaon Se Kaante Nikalkar.
मोहब्बत के काफिले को कुछ देर तो रोक लो,
आते है हम भी पाँव से कांटे निकाल कर।


Bikharne Ka Sabab Kya Kahein Yaaro Kisi Se Ab,
Kaanch TutTa Hai To Kuchh Tukde Sametne Mein Nahi Aate.
बिखरने का सब़ब क्या कहें यारों किसी से अब,
काँच टूटता है तो कुछ टुकड़े समेटने में नहीं आते।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Two Line Shayari, Mohabbat Ke Dard

Kabhi Ho Mukhatib Toh Kahun Kya Marz Hai Mera,
Ab Tum Dur Se Puchhoge Toh Khairiat Hi Kahenge.
कभी हो मुखातिब तो कहूँ क्या मर्ज़ है मेरा,
अब तुम दूर से पूछोगे तो ख़ैरियत ही कहेंगे।


Waqt Har Zakhm Ka Marham To Nahi Ban Sakta,
Dard Kuchh Hote Hain Ta-Umr Rulane Wale.
वक़्त हर ज़ख़्म का मरहम तो नहीं बन सकता
दर्द कुछ होते हैं ता-उम्र रुलाने वाले।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Two Line Shayari, Mohabbat Se Ji Bhar Gaya

Woh Kahani Thi, Chalti Rahi,
Main Kissa Tha, Khatm Hua.
वो कहानी थी, चलती रही,
मै किस्सा था, खत्म हुआ।


Ab Kyun Na Zindgi Pe Mohabbat Ko Vaar Dein,
Iss Aashiqi Mein Jaan Se Jana Bahut Hua.
अब क्यों न ज़िन्दगी पे मुहब्बत को वार दें
इस आशिक़ी में जान से जाना बहुत हुआ।

...Read More Shayaris

Sad Shayari, Mohabbat Ki Takleef

Usko Chaha To
Mohabbat Ki Takleef Najar Aayi,
Varna Is Mohabbat Ki
Bas Tareef Suna Karte The.
उसको चाहा तो
मोहब्बत की तकलीफ नजर आई,
वरना इस मोहब्बत की
बस तारीफ़ सुना करते थे।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Hindi Gham Shayari, Gham-e-Mohabbat Ho

Tej Raftaar Zindagi Ka Ye Aalam Hai Dosto,
Subah Ke Gham Bhi Sham Ko Purane Lagte Hain.
तेज रफ़्तार जिंदगी का ये आलम है दोस्तों,
सुबह के गम भी शाम को पुराने लगते हैं।


Sirf Zinda Rahne Ko Zindgi Nahi Kahte,
Kuchh Gham-e-Mohabbat Ho Kuchh Gham-e-Jahan Ho.
सिर्फ जिंदा रहने को जिंदगी नहीं कहते,
कुछ गमे-मोहब्बत हो कुछ गमे-ज़हान हो।

...Read More Shayaris
Loading...