1. Home
  2. Sad Shayari
  3. Mir Sad Shayari Collection

Mir Sad Shayari Collection

मीर तक़ी मीर की दर्द भरी शायरी

By | | Sad Shayari
Mir Sad Shayari Collection
Ads by Google

Jab Ki Pahlu Se Yaar UthhTa Hai,
Dard Be-Ikhtiyaar UthhTa Hai.
जब कि पहलू से यार उठता है,
दर्द बे-इख़्तियार उठता है।


Zakhm Jhele Daag Bhi Khaaye Bahut,
Dil Laga Kar Hum Toh Pachhtaye Bahut.
ज़ख़्म झेले दाग़ भी खाए बहुत,
दिल लगा कर हम तो पछताए बहुत।


Koi TumSa Bhi Kaash Tum Ko Mile,
Muddaa Hum Ko Intekaam Se Hai.
कोई तुम सा भी काश तुम को मिले,
मुद्दआ हम को इंतिक़ाम से है।


Humare Aage Tera Jab Kisi Ne Naam Liya,
Dil-e-Sitam-Zada Ko Hum Ne Thaam Thaam Liya.
हमारे आगे तिरा जब किसी ने नाम लिया,
दिल-ए-सितम-ज़दा को हम ने थाम थाम लिया।


Kya Jaanu Chashm-e-Tar Se Udhar Dil Ko Kya Hua,
Kis Ko Khabar Hai Mir Samandar Ke Paar Ki.
क्या जानूँ चश्म-ए-तर से उधर दिल को क्या हुआ,
किस को ख़बर है मीर समुंदर के पार की।


Mere Saleeke Se Meri Nibhi Mohabbat Mein,
Tamaam Umr Main Nakamiyon Se Kaam Liya.
मिरे सलीक़े से मेरी निभी मोहब्बत में,
तमाम उम्र मैं नाकामियों से काम लिया।


Baad Marne Ke Meri Qabr Pe Aaya Wo Mir,
Yaad Aai Mere Masiha Ko Dawa Mere Baad.
बाद मरने के मेरी कब्र पे आया वो मीर,
याद आई मेरे मसीहा को दवा मेरे बाद।


Laga Na Dil Ko Kya Suna Nahi Tune,
Jo Kuchh Mir Ka Aashiqui Ne Haal Kiya.
लगा न दिल को क्या सुना नहीं तूने,
जो कुछ मीर का आशिकी ने हाल किया।


Ashk Aankh Mein Kab Nahi Aata,
Lahu Aata Hai Jab Nahi Aata.
अश्क आँख में कब नहीं आता,
लहू आता है जब नहीं आता।


Gham Raha Jab Tak Ke Dum Mein Dum Raha,
Dil Ke Jaane Ka Nihaayat Gham Raha.
गम रहा जब तक के दम में दम रहा,
दिल के जाने का निहायत गम रहा।

Ads by Google

Loading...

Ads by Google

Sad Shayari, Dilbar Badal-Badal Kar

Faiz Sad Shayari Collection