1. Home
  2. Sad Shayari
  3. Sad Shayari Najar Andazi Ka Shikwa

Sad Shayari, Najar Andazi Ka Shikwa

Touching Two Liner Couplete in Very Sad Mood

By | 08 Jun 2016 |
Sad Shayari, Najar Andazi Ka Shikwa
Ads by Google

Najar Andaz Karne Ki Wajah Kya Hai Bata Bhi Do,
Main Wohi Hun Jise Tum Duniya Se Behtar Batati Thi.
नज़र अंदाज़ करने की वज़ह क्या है बता भी दो,
मैं वही हूँ जिसे तुम दुनिया से बेहतर बताती थी।

Aas Paas Tera Ehsaas Ab Bhi Liye Baithe Hain,
Tu Hi Najar Andaz Kare Toh Shikwa Kis Se Karein.
आस पास तेरा एहसास अब भी लिये बैठें हैं,
तू ही नज़र अंदाज़ करे तो शिकवा किससे करें।

Aakhir Zindgi Ne Bhi Aaj Puchh Liya Mujhse,
Kahan Hai Woh Shakhs Jo Tujhe Mujhse Azeez Tha.
आखिर ज़िन्दगी ने भी आज पूछ लिया मुझ से,
कहाँ है वो शक्स जो तुझे मुझसे अज़ीज़ था।

Ads by Google

Humne Tere Baad Na Rakhi Kisi Se Mohabbat Ki Aas,
Ek Shakhs Hi Bahut Tha Jo Sab Kuchh Sikha Gaya.
हमने तेरे बाद न रखी किसी से मोहब्बत की आस,
एक शख्स ही बहुत था जो सब कुछ सिखा गया।

Kuchh Ruthhe Huye Lamhe Kuchh Toote Huye Rishtey,
Har Kadam Par Kaanch Ban Kar Zakhm Dete Hain.
कुछ रूठे हुए लम्हें कुछ टूटे हुए रिश्ते,
हर कदम पर काँच बन कर जख्म देते हैं।

Jo Shakhs Meri Har Kahani Har Kisse Mein Aaya,
Woh Mera Hissa Hokar Bhi Mere Hisse Mein Nahi Aaya.
जो शख्स मेरी हर कहानी हर किस्से में आया,
वो मेरा हिस्सा होकर भी मेरे हिस्से में नहीं आया।

Ads by Google

Sad Shayari, Yeh Qaatilo Ka Shahar

Sad Shayari, Ishq Karna Hai Sazaa