1. Home
  2. Sad Shayari
  3. Sad ilzam Shayari Collection

Sad ilzam Shayari Collection

हिंदी में इल्जाम पर शायरी

By | 03 Mar 2016 |
Ads by Google

Wafa Maine Nahi Chhodi Mujhe ilzam Mat Dena,
Mera Saboot Mere Ashq Hain Mera Gawah Mera Dard Hai.
वफ़ा मैंने नहीं छोड़ी मुझे इलज़ाम मत देना,
मेरा सबूत मेरे अश्क हैं मेरा गवाह मेरा दर्द है।

Bas Yehi Soch Kar Koyi Safai Nahi Di Humne,
Ki ilzam Jhuthe Hi Sahi Par Lagaye To Tumne Hain.
बस यही सोचकर कोई सफाई नहीं दी हमने।
कि इलज़ाम झूठे ही सही पर लगाये तो तुमने हैं।

Ads by Google

Kise ilzam Du Main Apni Barbaad Zindgi Ka,
Wakai Mein Mohabbat Zindgi Badal Deti Hai.
किसे इल्जाम दूँ मैं अपनी बर्बाद जिंदगी का,
वाकई में मोहब्बत जिंदगी बदल देती है।

Tune Hi Laga Diya ilzaam-e-Bewafai,
Adalat Bhi Teri Thi Gawaah Bhi Tu Hi Thi.
तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।

Ab Bhi Ilzam-e-Mohabbat Hai Humare Sar Par,
Ab Toh Banti Bhi Nahi Yaar Humari Uski.
अब भी इल्जाम-ए-मोहब्बत है हमारे सिर पर,
अब तो बनती भी नहीं यार हमारी उसकी।

Ads by Google

Sad Shayari, Waqt Shayari

Sad Shayari, Chahat Ki Tamanna

Loading...
Loading...