Alone Shayari

Alone Shayari, Main Hajaaron Mein Tanha

Beautiful Heart Touching Shayari on Tanhai

Alone Shayari, Main Hajaaron Mein Tanha

Mera Aur Uss Chaand Ka Muqaddar Ek Jaisa Hai,
Woh Taaron Mein Tanha Main Hajaaron Mein Tanha.
मेरा और उस चाँद का मुकद्दर एक जैसा है,
वो तारों में तन्हा है और मैं हजारों में तन्हा।


Ek Purana Mausam Lauta Yaad Bhari Purwai Bhi,
Aisa Toh Kam Hi Hota Hai Woh Bhi Ho Tanhai Bhi.
एक पुराना मौसम लौटा याद भरी पुरवाई भी,
ऐसा तो कम ही होता है वो भी हो तन्हाई भी।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Alone Shayari, Umr Gujaari Hai Uss Tarah

Small Alone Shayari in Two Lines

Alone Shayari, Umr Gujaari Hai Uss Tarah

Aye Shamma Tujhpe Yeh Raat Bhaari Hai Jis Tarah,
Humne Tamaam Umr Gujaari Hai Uss Tarah.
ऐ शम्मा तुझपे ये रात भारी है जिस तरह,
हमने तमाम उम्र गुजारी है उस तरह।


Tumhare Bagair Yeh Waqt Yeh Din Aur Yeh Raat,
Gujar Toh Jaate Hain Magar Gujaare Nahi Jaate.
तुम्हारे बगैर ये वक़्त ये दिन और ये रात,
गुजर तो जाते हैं मगर गुजारे नहीं जाते।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Alone Shayari, Tanhayion Ka Shahar

Deep Sentiments about Loneliness Expressed in Shayari

Alone Shayari, Tanhayion Ka Shahar

Uske Dil Me Thodi Si Jagah Maagi Thi
Musafiron Ki Tarah,
Usne Tanhayion Ka Ek Shahar
Mere Naam Kar Diya.
उसके दिल में थोड़ी सी जगह माँगी थी
मुसाफिरों की तरह,
उसने तन्हाईयों का एक शहर
मेरे नाम कर दिया।

...Read More Shayaris

Alone Shayari, Mehfil Mein Bhi Tanhayi

Lovely Couplet about Feeling Lonely in Crowd

Alone Shayari, Mehfil Mein Bhi Tanhayi

Jab Mehfil Mein Bhi Tanhayi Paas Ho,
Roshni Mein Bhi Andhere Ka Ehsaas Ho,
Tab Kisi Khaas Ki Yaad Mein Muskura Do,
Shayad Woh Bhi Aapke Intezar Mein Udaas Ho.
जब महफ़िल में भी तन्हाई पास हो,
रोशनी में भी अँधेरे का एहसास हो,
तब किसी खास की याद में मुस्कुरा दो,
शायद वो भी आपके इंतजार में उदास हो।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Alone Shayari, Koi Akela Nahi Mila

अकेलेपन पर बेहतरीन दो लाइन हिंदी शायरी

Alone Shayari, Koi Akela Nahi Mila

Zindagi Ki Raahon Par Kabhi Yun Bhi Hota Hai,
Jab Insaan Khud Ro Padta Hai Akele Mein.
जिंदगी की राहों पर कभी यूँ भी होता है,
जब इंसान खुद को पढ़ता है अकेले में।


Woh Bhi Bahut Akela Hai Shayad Meri Tarah,
Uss Ko Bhi Koi Chahne Wala Nahi Mila.
वो भी बहुत अकेला है शायद मेरी तरह,
उस को भी कोई चाहने वाला नहीं मिला।

...Read More Shayaris
Loading...
Loading...