Alone Shayari

Alone Shayari, Hum Tanha Hi Achchhe

Short Hindi Poetry about Sad Feeling of Loneliness

Alone Shayari, Hum Tanha Hi Achchhe

Usey Pana Usey Khona Usi Ke Hijr Mein Rona,
Yahi Gar Ishq Hai To Hum Tanha Hi Achchhe Hain.
उसे पाना उसे खोना उसी के हिज्र में रोना,
यही गर इश्क है तो हम तन्हा ही अच्छे हैं।


Khwab Boye The Akelapan Kata Hai,
Iss Mohabbat Mein Yaaron Bahut Ghata Hai.
ख्वाब बोये थे और अकेलापन काटा है,
इस मोहब्बत में यारों बहुत घाटा है।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Alone Shayari, Fikr Meri Tanhayi Ki

Heart Touching Poetry about Loneliness in Night

Alone Shayari, Fikr Meri Tanhayi Ki

Kitni Fikr Hai Kudrat Ko Meri Tanhayi Ki,
Jagte Rahte Hain Raat Bhar Sitare Mere Liye.
कितनी फ़िक्र है कुदरत को मेरी तन्हाई की,
जागते रहते हैं रात भर सितारे मेरे लिए।


Meri Tanhayian Karti Hain Jinhein Yaad Sadaa,
Unn Ko Bhi Meri Jarurat Ho Jaroori Toh Nahi.
​मेरी तन्हाइयां करती हैं ​जिन्हें याद सदा,
उन को भी मेरी ज़रुरत हो ज़रूरी तो नहीं।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Alone Shayari, Woh Josh-e-Tanhai

Touching Shayaris about Tanhai

Alone Shayari, Woh Josh-e-Tanhai

Woh Josh-e-Tanhai Shab-e-Gham,
Woh Har Taraf Bekasi Ka Aalam,
Kati Hai Aankhon Mein Raat Saari
Tadap Tadap Kar Sahar Huyi Hai.
वो जोश-ए-तन्हाई शब-ए-ग़म,
वो हर तरफ बेकसी का आलम,
कटी है आँखों में रात सारी,
तड़प तड़प कर सहर हुयी।

...Read More Shayaris

Alone Shayari, Main Hajaaron Mein Tanha

Beautiful Heart Touching Shayari on Tanhai

Alone Shayari, Main Hajaaron Mein Tanha

Mera Aur Uss Chaand Ka Muqaddar Ek Jaisa Hai,
Woh Taaron Mein Tanha Main Hajaaron Mein Tanha.
मेरा और उस चाँद का मुकद्दर एक जैसा है,
वो तारों में तन्हा है और मैं हजारों में तन्हा।


Ek Purana Mausam Lauta Yaad Bhari Purwai Bhi,
Aisa Toh Kam Hi Hota Hai Woh Bhi Ho Tanhai Bhi.
एक पुराना मौसम लौटा याद भरी पुरवाई भी,
ऐसा तो कम ही होता है वो भी हो तन्हाई भी।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Alone Shayari, Umr Gujaari Hai Uss Tarah

Small Alone Shayari in Two Lines

Alone Shayari, Umr Gujaari Hai Uss Tarah

Aye Shamma Tujhpe Yeh Raat Bhaari Hai Jis Tarah,
Humne Tamaam Umr Gujaari Hai Uss Tarah.
ऐ शम्मा तुझपे ये रात भारी है जिस तरह,
हमने तमाम उम्र गुजारी है उस तरह।


Tumhare Bagair Yeh Waqt Yeh Din Aur Yeh Raat,
Gujar Toh Jaate Hain Magar Gujaare Nahi Jaate.
तुम्हारे बगैर ये वक़्त ये दिन और ये रात,
गुजर तो जाते हैं मगर गुजारे नहीं जाते।

...Read More Shayaris