1. Home
  2. Two Line Shayari
  3. Mir Two Line Shayari Collection

Mir Two Line Shayari Collection

मीर तकी मीर की बेहतरीन दो लाईन शायरी

By | 05 Jul 2016 |
Mir Two Line Shayari Collection
Ads by Google

An Toh Chalte Hain ButKade Se Aye Mir,
Phir Milenge Gar Khuda Laya.
अब तो चलते हैं बुतकदे से ऐ मीर,
फिर मिलेंगे गर खुदा लाया।

Subah Hoti Hai Shaam Hoti Hai,
Umra Yoonhi Tamaam Hoti Hai.
सुबह होती रही शाम होती रही
उम्र यूँ ही तमाम होती रही।

Ads by Google

AmeerZaadon Se Dilli Ke Mat Mila Kar Mir,
Ki Hum Gareeb Huye Hain Inhin Ki Daulat Se.
अमीर-ज़ादों से दिल्ली के मत मिला कर मीर,
कि हम ग़रीब हुए हैं इन्हीं की दौलत से।

Mat Sahal Humein Jaano Phirta Hai Falak Barson,
Tab Khaak Ke Parde Se Insaan Nikalte Hain.
मत सहल हमें जानो फिरता है फ़लक बरसों,
तब ख़ाक के पर्दे से इंसान निकलते हैं।

Patta Patta, Boota Boota, Haal Hamaaraa Jaane Hai,
Jaane Na Jaane Gul Hi Na Jaane, Baagh To Saaraa Jaane Hai.
पत्ता पत्ता बूटा बूटा हाल हमारा जाने है,
जाने न जाने गुल ही न जाने बाग़ तो सारा जाने है।

Ads by Google

Hindi Shayari on Insaniyat

Two Line Shayari, Hai Ehtmaam Kiske Liye

Loading...
Loading...