Two Line Shayaris

Two Line Shayari, Hai Ehtmaam Kiske Liye

Best Two Line Couplets in Hindi

Bahut Se Log The Mehmaan Mere Ghar Lekin,
Woh Janta Tha Ki Hai Ehtmaam Kiske Liye.
बहुत से लोग थे मेहमान मेरे घर लेकिन,
वो जानता था कि है एहतमाम किसके लिए।


Sukoon Milta Hai Do Lafz Kagaz Pe Utaar Kar,
Kah Bhi Deta Hun Aur Aawaj Bhi Nahi Hoti.
सुकून मिलता है दो लफ्ज़ कागज पे उतार कर,
कह भी देता हूँ और आवाज भी नहीं होती।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Two Line Shayari, Shakhs Jo Shayar Banaa Gaya

Expressing Poignant Sentiments in Two Line Hindi Shayaris

Sitam Toh Yeh Hai Ke Zalim Sukhan-Shanaas Nahin,
Woh Ek Shakhs Jo Shayar Banaa Gaya Mujhko.
सितम तो ये है कि ज़ालिम सुखन-शनास नहीं,
वो एक शख्स जो शायर बना गया मुझको।


Unse Kehna Apni Kismat Pe Guroor Achha Nahi Hota,
Hum Ne Barish Mein Bhi Jalte Huye Ghar Dekhe Hain.
उनसे कहना अपनी किस्मत पे गुरूर अच्छा नहीं होता,
हम ने बारिश में भी जलते हुए घर देखे हैं।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Two Line Shayari, Chiraago Ka Safar

Deep Two Line Shayaris in Hindi

Raat Toh Waqt Ki Paband Hai Dhal Jayegi,
Dekhna Yeh Hai Chiraago Ka Safar Kitna Hai.
रात तो वक़्त की पाबंद है ढल जाएगी,
देखना ये है चरागों का सफ़र कितना है।


Lakdi Ke Makano Mein Chiraago Ko Na Rakhiye,
Apne Bhi Yeha Aag Bujhaane Nahi Aate.
लकड़ी के मकानों में चरागों को न रखिये,
अपने भी यहाँ आग बुझाने नहीं आते।

...Read More Shayaris

Two Line Shayari, Yehan Libaas Ki Keemat

Touching Two Line Shayaris in Hindi

Yehan Libaas Ki Keemat Hai Aadmi Ki Nahi,
Mujhe Gilaas Bade De Sharaab Kam Kar De.
यहाँ लिबास की कीमत है आदमी की नहीं,
मुझे गिलास बड़े दे शराब कम कर दे।


Koi Mila Hi Nahi Jis Ko Saunpte Mohsin,
Hum Apne Khwab Ki Khushbu, Khayal Ka Mausam.
कोई मिला ही नहीं जिस को सौपते मोहसिन,
हम अपने ख्वाब की खुशबु, ख्याल का मौसम।

...Read More Shayaris
Ads by Google

Two Line Shayari, Hum Patthar Bane Rahe

Nice Two Liner Shayaris in Hindi

Shayad Koi Tarash Kar Meri Kismat Sanwaar De,
Yeh Soch Kar Hum Umr Bhar Patthar Bane Rahe.
शायद कोई तराश कर मेरी किस्मत संवार दे,
यह सोच कर हम उम्र भर पत्थर बने रहे।


Kisi Ke Zakhm To Kisi Ke Gham Ka ilaaj,
Logon Ne Baant Rakha Hai Mujhe Davaa Ki Tarah.
किसी के जख़्म तो किसी के ग़म का इलाज़,
लोगों ने बाँट रखा है मुझे दवा की तरह।

...Read More Shayaris
Loading...