1. Home
  2. Two Line Shayari
  3. Two Line Shayari Woh Pehle Sa Manjar

Two Line Shayari, Woh Pehle Sa Manjar

Deep 2 Liner Couplets in Hindi and English

By | 08 Jun 2016 |
Two Line Shayari, Woh Pehle Sa Manjar
Ads by Google

Woh Pehle Sa Kahin Mujhko Koi Manjar Nahi Lagta,
Yehan Logon Ko Dekho Ab Khuda Ka Darr Nahi Lagta.
वो पहले सा कहीं मुझको कोई मंज़र नहीं लगता,
यहाँ लोगों को देखो अब ख़ुदा का डर नहीं लगता।

Baahar Ke Sard Mausam Par Toh Tumhein Aitraaz Ho Chala Hai,
Rago Mein Bahte Sard Khoon Ka Kabhi Tum Zikr Nahi Karte.
बाहर के सर्द मौसम पर तो तुम्हें ऐतराज़ हो चला है,
रगों में बहते सर्द खून का कभी तुम ज़िक्र नहीं करते।

Ads by Google

Tere SHahar Ke Karigar Bade Ajeeb Hain Aye Khusus-e-Dil,
Kaanch Ki Marammat Karte Hain Patthar Ke Aujaaro Se.
तेरे शहर के कारीगर बड़े अजीब हैं ऐ खुसूस-ये-दिल,
कांच की मरम्मत करते हैं पत्थर के औजारों से।

Jism Toh Bahut Sanwaar Chuke Rooh Ka Singaar Kijiye,
Phool Shaakh Se Na Todiye Khushbuon Se Pyar Kijiye.
जिस्म तो बहुत संवार चुके रूह का सिंगार कीजिये,
फूल शाख से न तोड़िए खुशबुओं से प्यार कीजिये।

Muqaddar Ki Likhawat Ka Ek Aisa Bhi Kayeda Ho,
Der Se Kismat Khulne Walo Ka Duguna Fayeda Ho.
मुकद्दर की लिखावट का इक ऐसा भी कायदा हो,
देर से क़िस्मत खुलने वालों का दुगुना फ़ायदा हो।

Ads by Google

Two Line Shayari, Hum Patthar Bane Rahe

Two Line Shayari, Yeh Perh Yeh Patte