1. Home
  2. Yaad Shayari
  3. Yaad Shayari Sisakte Yaadon Ke Chiraag

Yaad Shayari, Sisakte Yaadon Ke Chiraag

Very Nice Two Line Shayaris on Yaadein

By | 07 Jul 2016 |
Yaad Shayari, Sisakte Yaadon Ke Chiraag
Ads by Google

Ab Bujha Do Yeh Sisakte Huye Yaadon Ke Chiraag,
Inse Kab Hijr Ki Raaton Mein Ujala Hoga.
अब बुझा दो ये सिसकते हुए यादों के चराग,
इनसे कब हिज्र की रातों में उजाला होगा।

Woh Apni Zindgi Mein Ho Gaye Masroof Itne,
Kis Kis Ko Bhool Gaye Ab Unhein Bhi Yaad Nahi.
वो अपनी जिंदगी में हो गए मसरूफ इतने,
किस किस को भूल गए अब उन्हें भी याद नहीं।

Dhoodhoge Ujade Rishton Mein Wafa Ke Khazane,
Tum Mere Baad Meri Mohabbat Ko Yaad Karoge.
ढूढ़ोगे उजड़े रिश्तों में वफ़ा के खजाने,
तुम मेरे बाद मेरी मोहब्बत को याद करोगे।

Ads by Google

Kadr Har Shay Ki Hua Karti Hai Kho Jaane Par,
Tum Unhein Yaad Karoge Jo Tumhein Yaad Nahi.
कद्र हर शै की हुआ करती है खो जाने पर,
तुम उन्हें याद करोगे जो तुम्हें याद नहीं।

Aati Hai Aise Bichhde Huye Doston Ki Yaad,
Jaise Chiraag Jalte Hon Raaton Ko Gaaon Mein.
आती है ऐसे बिछड़े हुए दोस्तों की याद,
जैसे चराग जलते हों रातों को गांव में।

Mausam Ki Pahli Baris Ka Shauk Tumhein Hoga,
Hum Toh Roj Kisi Ki Yaad Mein Doobe Rahte Hain.
मौसम की पहली बारिश का शौक तुम्हें होगा,
हम तो रोज किसी की यादो मे भीगें रहते है।

Bichhadi Hui Raahon Se Jo Gujare Hum Kabhi,
Har Kadam Par Khoyi Hui Ek Yaad Mil Gayi
बिछड़ी हुई राहों से जो गुजरे हम कभी,
हर कदम पर खोयी हुई एक याद मिल गयी।

Ads by Google

Yaad Shayari, Kisi Ki Yaadon Mein

Yaad Shayari, Teri Yaadon Ka Baajaar