Read Shayari in Hindi

Nafrat Shayari

Hate Shayari, Har Dil Mein Nafrat

Qatl Toh Lazim Hai Iss Bewafa Shahar Mein,
Jise Dekho Dil Mein Nafrat Liye Firta Hai.
क़त्ल तो लाजिम है इस बेवफा शहर में,
जिसे देखो दिल में नफरत लिये फिरता है।

Lekar Ke Mera Naam Woh Mujhe Kosta Hai,
Nafrat Hi Sahi Par Woh Mujhe Sochta Toh Hai.
लेकर के मेरा नाम वो मुझे कोसता है,
नफरत ही सही पर वो मुझे सोचता तो है।

...Read More Shayaris

Advertisement
Alone Shayari

Alone Shayari, Faasle Barh Jaayenge

JagMagaate Shahar Ki Ranaaiyon Mein Kya Na Tha,
Dhoondne Nikla Tha Jisko Bas Wohi Chehra Na Tha,
Hum Wahi, Tum Bhi Wahi, Mausam Wahi, Manzar Wahi,
Faasle Barh Jaayenge Itne Maine Kabhi Socha Na Tha.
जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था,
ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था,
हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही,
फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था।

...Read More Shayaris

Advertisement
Intezaar Shayari

Hindi Intezaar Shayari, Tere Intezaar Mein

Intezaar Shayari - Tere Intezaar Mein

Ai Maut Unhein Bhulaye Huye Zamane Gujar Gaye,
Aa Ja Ke Zeher Khaye Huye Zamane Gujar Gaye,
O Jaane Wale Aa Ke Tere Intezaar Mein,
Raste Ko Ghar Banaye Zamane Gujar Gaye.
ऐ मौत उन्हें भुलाए ज़माने गुजर गए,
आ जा कि ज़हर खाए ज़माने गुजर गए,
ओ जाने वाले आ कि तेरे इंतजार में,
रास्ते को घर बनाए ज़माने गुजर गए।

...Read More Shayaris

Shayari On Life

Life Shayari, Zindagi Honi Chahiye

Hindi Shayari on Life - Tere Shahar Mein Zindagi

Samandar Na Sahi Par Ek Nadi Toh Honi Chahiye,
Tere Shahar Mein Zindagi Kahin Toh Honi Chahiye.
समंदर न सही पर एक नदी तो होनी चाहिए,
तेरे शहर में ज़िंदगी कहीं तो होनी चाहिए।

Ek Tooti Si Zindagi Ko Sametne Ki Chahat Thi,
Na Khabar Thi Unn Tukdon Ko Hi Bikher Baithhenge.
इक टूटी-सी ज़िंदगी को समेटने की चाहत थी,
न खबर थी उन टुकड़ों को ही बिखेर बैठेंगे हम।

Fikr Hai Sabko Khud Ko Sahi Sabit Karne Ki,
Jaise Zindagi, Zindagi Nahi Koi Iljaam Hai.
फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की,
जैसे ये ज़िंदगी, ज़िंदगी नहीं, कोई इल्जाम है।

Advertisement
Friendship Shayari

Yaad Karoge Is Pagal Dost Ko

Hum Jab Bhi Aapki Duniya Se Jayenge,
Itni Khushiyan Aur Apnapan De Jayenge,
Ke Jab Bhi Yaad Karoge Is Pagal Dost Ko,
Hansti Aankhon Se Aansoo Nikal Aayenge.
हम जब भी आपकी दुनिया से जायेंगे,
इतनी खुशियाँ और अपनापन दे जायेंगे,
कि जब भी याद करोगे इस पागल दोस्त को,
हँसती आँखों से आँसू निकल आयेंगे।

...Read More Shayaris