1. Home
  2. Bewafa Shayari
  3. Bewafa Shayari Jab Woh Bewafa Ho Gaye

Bewafa Shayari, Jab Woh Bewafa Ho Gaye

बेवफाई पर हिंदी में बेहतरीन शायरी

By | 17 Dec 2015 |
Bewafa Shayari, Jab Woh Bewafa Ho Gaye
Ads by Google

Aag Dil Me Lagi Jab Wo Khafa Huye,
Mehsoos Hua Tab, Jab Wo Juda Huye,
Kar Ke Wafa Kuchh De Na Sake Wo,
Bahut Kuch De Gaye Jab Wo Bewafa Huye.
आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।

Ads by Google

Na Poochh Mere Sabr Ki Inteha Kahan Tak Hai,
Tu Sitam Kar Le Teri Hasrat Jahan Tak Hai,
Wafa Ki Ummid Jinhein Hogi Unhein Hogi,
Hamein Toh Dekhna Hai Tu Bewafa Kahan Tak Hai.
ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक है,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक है
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक है।

Ads by Google

Bewafa Shayari, Majboori Aur Bewafai