Hindi Shayari on Mausam (Weather)

December Shayari Collection in Hindi

Read Shayari about December Month in Hindi

December Shayari in Hindi
December Shayari - Mausam Shayari

Kaash Ke Koi Aakar Sambhal Le Mujhko Baahon Mein,
Dheere-Dheere Khatm Ho Raha Hoon Main Bhi Decembar Ki Tarah.
काश कि कोई आकर संभाल ले मुझको बाँहो में,
धीरे धीरे खत्म हो रहा हूँ मैं भी दिसंबर की तरह।

Barf Si Meri Hatheli Ko Thodi Garamaahat De Jaao,
Ki Aa Gaya Hai Decembar Sanam Tum Bhi Aa Jaao.
बर्फ़ सी मेरी हथेली को थोड़ी गरमाहट दे जाओ,
कि आ गया है दिसंबर सनम तुम भी आ जाओ।

Ye Decembar Bhi Beetega Pichhale Saal Ki Tarah,
Ise Bhi Tumhaari Tarah Rukne Ki Aadat Nahin.
ये दिसंबर भी बीतेगा पिछले साल की तरह,
इसे भी तुम्हारी तरह रुकने की आदत नहीं।

Laut Aao Ki Meri Saanse Ab Tinka-Tinka Bikharte Hain,
Kahin Meri Jaan Na Le Le Ye Pehli Shaam Decembar Ki.
लौट आओ कि मेरी साँसे अब तिनका-तिनका बिखरती हैं,
कहीं मेरी जान ना ले ले ये पहली शाम दिसंबर की।

Advertisement

Sad Mausam Shayari, Mausam Ki Adaa

Sad and Serious Shayaris about Weather in Hindi and English Font

Sad Mausam Shayari, Mausam Ki Adaa

Jiske Aane Se Mere Jakhm Bhara Karte The,
Ab Wo Mausam Mere Jakhmo Ko Haraa Harte Hain.
जिसके आने से मेरे जख्म भरा करते थे,
अब वो मौसम मेरे जख्मों को हरा करता है।

Mausam Ki Misaal Dun Ya Naam Lu Tumhara,
Koi Puchh Baitha Hai Badalna Kisko Kehte Hai.
मौसम की मिसाल दूँ या नाम लूँ तुम्हारा,
कोई पूछ बैठा है बदलना किसको कहते हैं।

[ Read More Shayari ]

Advertisement

Hindi Mein Garmi Ke Dohe

हिंदी में गर्मी के मौसम पर दोहे पढ़ें

इस गर्मी में रात दिन जब बहे पसीना धार।
आइसक्रीम और कुल्फी की मची रहे भरमार।

रहिमन कूलर राखिये बिन कूलर सब सून।
कूलर बिना ना किसी को, गर्मी में मिले सुकून।

एसी जो देखन मैं गया एसी ना मिलया कोय।
जब घर लौटा आपने गर्मी में ऐसी-तैसी होय।

[ Read More Shayari ]

Advertisement