1. Home
  2. Chand Shayari
  3. Chand Shayari Kitna Hasin Chaand

Chand Shayari, Kitna Hasin Chaand

Nice Shayari about Moon and Beauty

By | 08 Jul 2016 |
Chand Shayari, Kitna Hasin Chaand
Ads by Google

Kitna Hasin Chand Sa Chehra Hai,
Uspe Shabab Ka Rang Gehra Hai,
Khuda Ko Yakeen Na Tha Wafa Pe,
Tabhi Chand Pe Taaro Ka Pehra Hai.
कितना हसीन चाँद सा चेहरा है,
उसपे शबाब का रंग गहरा है,
खुदा को यकीन न था वफ़ा पे,
तभी चाँद पे तारों का पहरा है।

Ads by Google

Tu Apni Nigahon Se Na Dekh Khud Ko
Chamakta Heera Bhi Tujhe Patthar Lagega,
Sab Kehte Honge Chand Ka Tukda Hai Tu,
Meri Nazar Se Chand Tera Tukda Lagega.
तू अपनी निगाहों से न देख खुद को,
चमकता हीरा भी तुझे पत्थर लगेगा,
सब कहते होंगे चाँद का टुकड़ा है तू,
मेरी नजर से चाँद तेरा टुकड़ा लगेगा।

Ik Adaa Aapki Dil Churane Ki,
Ik Adaa Aapki Dil Mein Bas Jaane Ki,
Chehra Aapka Chand Sa Aur Ek,
Hasrat Humari Uss Chand Ko Paane Ki.
इक अदा आपकी दिल चुराने की,
इक अदा आपकी दिल में बस जाने की,
चेहरा आपका चाँद सा और एक
हसरत हमारी उस चाँद को पाने की।

Ads by Google

Chand Shayari, Chaand Ka Dard

loading...