1. Home
  2. Shayari On Life
  3. Shayari on Life Chhod De Tanha Zindagi

Shayari on Life, Chhod De Tanha Zindagi

Sad Life Shayari in Two Lines

By | 23 Feb 2016 |
Shayari on Life, Chhod De Tanha Zindagi
Ads by Google

Mujh Se Naaraj Hai To Chhod De Tanha Mujhko,
Aye Zindagi, Mujhe Roz Roz Tamasha Na Banaya Kar.
मुझ से नाराज़ है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,
ऐ ज़िन्दगी, मुझे रोज़ रोज़ तमाशा न बनाया कर।

Fursat Mile Jab Bhi To Ranjishen Bhula Dena,
Kaun Jaane Saanso Ki Mohlatein Kahan Tak Hain.
फुर्सत मिले जब भी तो रंजिशे भुला देना,
कौन जाने साँसों की मोहलतें कहाँ तक हैं।

Ads by Google

Apne Wajood Par Itna Na Itara, Aye Zindagi,
Woh Toh Maut Hai Jo Mohlat Diye Ja Rahi Hai.
अपने वजूद पर इतना न इतरा, ऐ ज़िन्दगी.
वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है।

Roj Roj Gir Kar Bhi Muqammal Khade Hain,
Ai Zindgi Dekh Mere Hausle Tujhse Bhi Bade Hain.
रोज रोज गिर कर भी मुक्कमल खड़े हैं,
ऐ जिंदगी देख मेरे हौसले तुझसे भी बड़े हैं।

Bakhsha Hai Thokaron Ne Sambhalne Ka Hausla,
Har Haadsa Khayal Ko Gahraayi De Gaya.
बख्शा है ठोकरों ने सँभलने का हौसला,
हर हादसा ख्याल को गहराई दे गया।

Ads by Google

Shayari on Life, Zindagi Har Pal

Zindagi Shayari, Meri Zindagi Ka Har Panna