1. Home
  2. Love Shayari
  3. Allama Iqbal Love Shayari Collection

Allama Iqbal Love Shayari Collection

अल्लामा इकबाल की प्यार भरी शायरी

By | 04 Jul 2016 |
Allama Iqbal Love Shayari Collection
Ads by Google

Ishq Bhi Ho Hijaab Mein Husn Bhi Ho Hijaab Mein,
Yaa Toh Khud Aashkaar Ho Ya Mujhe Aashkaar Kar.
इश्क़ भी हो हिजाब में हुस्न भी हो हिजाब में,
या तो ख़ुद आश्कार हो या मुझे आश्कार कर।

Ishq Teri Intehaan Ishq Meri Intehaan,
Tu Bhi Abhi Na-Tamaam Main Bhi Abhi Na-Tamaam.
इश्क़ तेरी इन्तेहाँ इश्क़ मेरी इन्तेहाँ,
तू भी अभी ना-तमाम मैं भी अभी ना-तमाम।

Faqat Nigaah Se Hota Hai Faisla Dil Ka,
Na Ho Nigaah Mein Shokhi Toh Dilbari Kya Hai.
फ़क़त निगाह से होता है फ़ैसला दिल का,
न हो निगाह में शोख़ी तो दिलबरी क्या है।

Anokhi Bazaa Hai Saare Zamaane Se Niraale Hain,
Ye Aashiq Kaun Si Basti Ke Ya Rab Rahne Wale Hain.
अनोखी वजाअ है सारे ज़माने से निराले हैं,
ये आशिक़ कौन सी बस्ती के या रब रहने वाले हैं।

Ads by Google

Mohabbat Ki Tamanna Hai Toh Phir Wo Vasf Paida Kar,
Jahan Se Ishq Chalta Hai Wahan Tak Naam Paida Kar.
मोहब्बत की तमन्ना है तो फिर वो वस्फ़ पैदा कर,
जहाँ से इश्क चलता है वहाँ तक नाम पैदा कर।

Akal Ayyaar Hai Sau Bhesh Bana Leti Hai,
Ishq Bechara Na Mulla Hai Na Zahid Na Hakeem.
अक्ल अय्यार है सौ भेष बना लेती है,
इश्क बेचारा न मुल्ला है न जाहिद न हकीम।

Allama Iqbal Best Love Shayari in Hindi
Abhi Kamsin Hain Zidein Bhi Hain Nirali Unki,
Iss Pe Machle Hain Hum Dard-e-Jigar Dekhenge.
अभी कमसिन हैं जिदें भी हैं निराली उनकी,
इस पे मचले हैं हम दर्द-ए-जिगर देखेंगे।

Idhar Humse Bhi Baat Lakh Karte Hain Lagawat Ki,
Udhar Gairo Se Bhi Kuchh Vaade Hote Jate Hain.
इधर हमसे भी बात लाख करते हैं लगावत की,
उधर गैरों से भी कुछ वादे होते जाते हैं।

Maar Daalegi Mujhe Yeh Khusbayani Aapki,
Maut Bhi Aayegi Mujhko Toh Jabani Aapki.
मार डालेगी मुझे ये खुशबयानी आपकी,
मौत भी आएगी मुझको तो जबानी आपकी।

Ads by Google

Mir Love Shayari Collection

Love Shayari, Khwabon Ke Ghar Mein

loading...