1. Home
  2. Sad Shayari
  3. Sad Shayari Jab Bhi Unki Gali Se

Sad Shayari, Jab Bhi Unki Gali Se

Best Sad Shayari on Unki Gali

By | 13 Mar 2016 |
Sad Shayari, Jab Bhi Unki Gali Se
Ads by Google

Jab Bhi Unki Gali Se Gujarte Hain,
Meri Ankhein Ek Dastak De Deti Hain,
Dukh Yeh Nahi Woh Darwaja Band Kar Dete Hain,
Khushi Yeh Hai Woh Mujhe Pehchan Lete Hain.
जब भी उनकी गली से गुज़रते हैं,
मेरी आँखें एक दस्तक दे देती हैं,
दुःख ये नहीं वो दरवाजा बंद कर देते हैं,
ख़ुशी ये है कि वो मुझे पहचान लेते हैं।

Dekh Lete Ho Mohabbat Se Yehi Kafi Hai,
Dil DhadakTa Hai Sahulat Se Yehi Kafi Hai,
Haal Duniya Ke Sataye Huye Kuchh Logon Ka,
Puchh Lete Ho Shararat Se Yehi Kafi Hai.
देख लेते हो मोहब्बत से यही काफी है,
दिल धड़कता है सहूलत से यही काफी है,
हाल दुनिया के सताए हुए कुछ लोगों का,
पूछ लेते हो शरारत से यही काफी है।

Ads by Google

Aaj Ki Raat Jo Meri Tarah Tanha Hai,
Main Kisi Tarah Gujarunga Chala Jaaunga,
Tum Pareshan Na Ho Baab-e-Karam-Wa Na Karo,
Aur Kuchh Der Pukarunga Chala Jaunga.
आज की रात जो मेरी तरह तन्हा है,
मैं किसी तरह गुजारूँगा चला जाऊंगा,
तुम परेशाँ न हो बाब-ए-करम-वा न करो,
और कुछ देर पुकारूंगा चला जाऊंगा।

Zabt Se Kaam Liya Dil Ne Toh Kya Faqr Karoon,
Ismein Kya Ishq Ki Izzat Thi Ke Ruswaa Na Hua,
Waqt Phir Aisa Bhi Aaya Ke UsSe Milte Huye,
Koi Aansoo Bhi Na Gira Koi Tamasha Na Hua.
जब्त से काम लिया दिल ने तो क्या फक्र करूँ,
इसमें क्या इश्क की इज्ज़त थी कि रुसवा न हुआ,
वक्त फिर ऐसा भी आया कि उससे मिलते हुए,
कोई आँसू भी ना गिरा कोई तमाशा ना हुआ।

Ads by Google

Sad Shayari on Jubaan

Sad Shayari, Waqt Shayari