1. Home
  2. Sad Shayari
  3. Sad Shayari Simat Gayi Meri Ghazal

Sad Shayari, Simat Gayi Meri Ghazal

Awesome Lines from a Cheerless Heart

By | 13 May 2016 |
Sad Shayari, Simat Gayi Meri Ghazal
Ads by Google

Simat Gayi Meri Ghazal Bhi Chand Alfazon Mein,
Jab Usne Kaha Mohabbat Toh Hai Par Tumse Nahi.
सिमट गयी मेरी ग़ज़ल भी चंद अल्फाजों में,
जब उसने कहा मोहब्बत तो है पर तुमसे नहीं।

Ab Soch Rahe Hain Seekh Hi Le Hum Bhi Berukhi Karna,
Mohabbat Dete Dete Sabko Humne Apni Hi Kadar Kho Di.
अब सोच रहे हैं सीख ही लें हम भी बेरुखी करना,
मोहब्बत देते देते सबको हमने अपनी ही कदर खो दी।

Ads by Google

Na Chhed Kissa Woh Mohabbat Ka Badi Lambi Kahani Hai,
Main Zindagi Se Nahi Haara Kisi Ki Meharbani Hai.
ना छेड़ किस्सा वो मोहब्बत का बड़ी लम्बी कहानी है,
मैं जिन्दगी से नहीं हारा किसी अपने की मेहरबानी है।

Roj Kehta Hun Na Jaaunga Kabhi Ghar Uske,
Roj UsKe Kuche Mein Koi Kaam Nikal Aata Hai.
रोज कहता हूँ न जाऊँगा कभी घर उसके,
रोज उस के कूचे में कोई काम निकल आता है।

Hum Se Ek Rutha Hua Shakhs Bhi Na Manaa,
Log To Ruthi Huyi Taqdeer Mana Lete Hain.
हमसे एक रूठा हुआ शख्स भी न मना,
लोग तो रूठी हुई तकदीर मना लेते हैं।

Ads by Google

Sad Shayari, Na Khushi Ki Talaash

Sad Shayari, Dillagi Thi Use Hum Se