1. Home
  2. Shayari On Beauty
  3. Gesu Shayari Collection

Gesu Shayari Collection

Best Urdu-Hindi Shayaris about Gesu

By | 06 Jul 2016 |
Gesu Shayari Collection
Ads by Google

Yeh Gesuon Ki Ghatayein Yeh Labon Ke Maikhane,
Nigaah-e-Shauq Khudaya Kahan Kahan Thhehre.
यह गेसुओं की घटाएं यह लबों के मैखाने,
निगाहे-शौक खुदाया कहाँ कहाँ ठहरे।

Idhar Gesu Udhar Ru-e-Munawwar Hai Tasawar Mein,
Kahan Yeh Shaam Aayegi Kahan Aisi Sahar Hogi.
इधर गेसू उधर रू-ए-मुनव्वर है तसव्वर में,
कहाँ ये शाम आयेगी कहाँ ऐसी सहर होगी।

Bade Gustakh Hain Jhuk Kar Tera Munh Choom Lete Hain,
Bahut Sa Tu Ne Zalim Gesuon Ko Sar Chadaya Hai.
बड़े गुस्ताख़ हैं झुक कर तिरा मुँह चूम लेते हैं
बहुत सा तू ने ज़ालिम गेसुओं को सर चढ़ाया है।

Ads by Google

Yeh Udi-Udi Si Rangat Yeh Khule Khule Se Gesu,
Teri Subah Kah Rahi Hai Teri Raat Ka Fasana.
यह उड़ी-उड़ी सी रंगत ये खुले-खुले से गेसू,
तेरी सुबह कह रही है तेरी रात का फसाना।

Gam-e-Zamana Teri Zulmatein Hi Kya Kam Thi,
Ke Barh Chale Hain Ab Inn Gesuon Ke Bhi Saaye.
ग़म-ए-ज़माना तिरी ज़ुल्मतें ही क्या कम थीं,
कि बढ़ चले हैं अब इन गेसुओं के भी साए।

Humare Dil Ki Halat Gesu-e-Mahboob Jaane Hai,
Pareshan Ki Pareshani Ko Pareshan Khub Jane Hai.
हमारे दिल की हालत गेसु-ए-महबूब जाने है,
परेशाँ की परेशानी परेशाँ ख़ूब जाने है।

Ads by Google

Shayari on Beauty, Haseeno Ki Jawani

Zulf Shayari Collection

Loading...
Loading...