1. Home
  2. Hindi Shayari
  3. Hindi Shayari Phool Isliye Achchhe Hain

Hindi Shayari, Phool Isliye Achchhe Hain

फूल, कांटे, दोस्त, दुश्मन सब अच्छे है

By | 13 Mar 2016 |
Ads by Google

Phool Isliye Achhe Hain Ki Khushbu Ka Paigam Dete Hain,
Kaante Islite Achhe Hai Ki Daaman Thaam Lete Hain,
Dost Isliye Achhe Hain Ki Woh Mujh Par Jaan Dete Hain,
Aur Dushmano Ko Main Kaise Kharab Keh Doon...
Woh Hi Toh Hain Ho Mehfil Mein Mera Naam Lete Hain.
फूल इसलिये अच्छे कि खुश्बू का पैगाम देते हैं,
कांटे इसलिये अच्छे कि दामन थाम लेते हैं,
दोस्त इसलिये अच्छे कि वो मुझ पर जान देते हैं,
और दुश्मनों को मैं कैसे खराब कह दूं...
वो ही तो हैं जो महफिल में मेरा नाम लेते हैं।

Ads by Google

Agar Toote Kisi Ka Dil Toh Shab Bhar Aankh Roti Hai,
Ye Duniya Hai Gulon Ki Jism Mein Kaante Piroti Hai,
Hum Milte Hain Apne Gaanv Mein Dushman Se Bhi Ithhlakar,
Tumhara Shahar Dekha Toh Badi Takleef Hoti Hai.
अगर टूटे किसी का दिल तो शब भर आँख रोती है,
ये दुनिया है गुलों की जिस्म में काँटे पिरोती है,
हम मिलते हैं अपने गाँव में दुश्मन से भी इठलाकर,
तुम्हारा शहर देखा तो बड़ी तकलीफ होती है।

Ads by Google

Hindi Shayari, Din Khwab Banane Mein

Aawaargi Shayari Collection