1. Home
  2. Sad Shayari
  3. Sad Shayari Ranj-e-Safar Ki Nishaani

Sad Shayari, Ranj-e-Safar Ki Nishaani

Very True Sad Shayari Lines in Hindi

By | 16 Jun 2016 |
Sad Shayari, Ranj-e-Safar Ki Nishaani
Ads by Google

Kuchh YaadGar-e-Shahar-e-SitamGar Hi Le Chalein,
Aaye Hain Toh Phir Gali Se Patthar Hi Le Chalein,
Ranj-e-Safar Ki Koi Nishaani Toh Paas Ho,
Thodi Si Khak-e-Kucha-e-Dilbar Hi Le Chalein.
कुछ यादगार-ए-शहर-ए-सितमगर ही ले चलें,
आये हैं तो फिर गली में से पत्थर ही ले चलें,
रंज-ए-सफ़र की कोई निशानी तो पास हो,
थोड़ी सी ख़ाक-ए-कूचा-ए-दिलबर ही ले चलें।

Ads by Google

Kismat Se Apni Sabko Shikayat Kyun Hai,
Jo Nahi Mil Sakta Usi Se Mohabbat Kyun Hai,
Kitne Khaye Hain Dhokhe Mohabbat Ki Rahon Mein,
Phir Bhi Dil Mein Usi Ki Ibaadat Kyun Hai.
किस्मत से अपनी सबको शिकायत क्यों है,
जो नहीं मिल सकता उसी से मोहब्बत क्यों है,
कितने खाये हैं धोखे मोहब्बत की राहों में,
फिर भी दिल में उसी की इबादत क्यों है?

Mana Ke Kismat Pe Mera Koi Jor Nahi,
Par Yeh Sach Hai Ke Mohabbat Meri Kamjor Nahi,
Uss Ke Dil Mein Yaadon Mein Koi Aur Hai Lekin,
Meri Har Saans Mein Uske Siwa Koi Aur Nahi.
माना कि किस्मत पे मेरा कोई जोर नहीं,
पर ये सच है कि मोहब्बत मेरी कमज़ोर नहीं,
उस के दिल में यादों में कोई और है लेकिन,
मेरी हर साँस में उसके सिवा कोई और नहीं।

Ads by Google

Sad Shayari, Agar Tumko Gila Hai

Sad Shayari, Teri Wafa Ke Takaaje

loading...