1. Home
  2. Dard Bhari Shayari
  3. Dard Shayari Raat Ka Dard

Dard Shayari, Raat Ka Dard

Touching Painful Shayari, Status and Sms

By | 09 Jun 2016 |
Dard Shayari, Raat Ka Dard
Ads by Google

Tu Hai Sooraj Tujhe Maloom Kahan Raat Ka Dard,
Tu Kisi Roz Mere Ghar Mein Utar Shaam Ke Baad.
तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द,
तू किसी रोज मेरे घर में उतर शाम के बाद।

Shayari Mein Kahan SimatTa Hai Dard-e-Dil Dosto,
Bahla Rahe Hain Khud Ko Jara Kagazon Ke Saath.
शायरी में कहाँ सिमटता है दर्द-ए-दिल दोस्तो,
बहला रहे हैं खुद को जरा कागजों के साथ।

Ads by Google

Aankhein Khuli Hain Jab Se Hoon Dard Mein Ai Dost,
Mujhko Jaga Ke Neend Se Tu Ne Achchha Nahi Kiya.
आँखें खुली हैं जबसे हूँ दर्द में ऐ दोस्त,
मुझको जगा के नींद से तूने अच्छा नहीं किया।

Bahut Juda Hai Auron Se Mere Dard Ki Kahani,
Zakhm Ka Nishaan Nahi Aur Dard Ki Intehaan Nahi.
बहुत जुदा है औरों से मेरे दर्द की कहानी,
जख्म का निशाँ नहीं और दर्द की इन्तेहाँ नहीं।

Meri Fitrat Mein Nahi Apna Dard Bayaan Karna,
Agar Tere Wajood Ka Hissa Hun Toh Mehsoos Kar Mujhe.
मेरी फितरत में नहीं अपना दर्द बयां करना,
अगर तेरे वजूद का हिस्सा हूँ तो महसूस कर मुझे।

Ads by Google

Dard Shayari, Ek Naya Dard Dil Mein

Dard Shayari, Dard Se Jaan Nikal Do