Read Shayari in Hindi

Yaad Shayari

Yaad Shayari, Tumhari Yaadein

Yaad Shayari, Tumhari Yaadein

Rakh Lo Dil Mein Sanbhal Kar Thodi Si Yaadein Humari,
Reh Jaoge Jab Tanha Bahut Kaam Aayenge Hum.
रख लो दिल में संभाल कर थोड़ी सी यादें हमारी,
रह जाओगे जब तन्हा बहुत काम आयेंगे हम।

Bheegte Hain Jis Tarah Se Teri Yaadon Mein Doobkar,
Iss Baarish Mein Kahan Woh Kashish Tere Khayalon Jaisi.
भीगते हैं जिस तरह से तेरी यादों में डूब कर,
इस बारिश में कहाँ वो कशिश तेरे खयालों जैसी।

...Read More Shayaris

Advertisement
Love Shayari

Hindi Love Shayari, Mohabbat Ka Izhaar

Hindi Love Shayari, Mohabbat Ka Izhaar

एक बार कर के ऐतबार लिख दो,
कितना है मुझ से प्यार लिख दो,
कटती नहीं ये ज़िन्दगी अब तेरे बिन,
कितना और करूँ इन्तज़ार लिख दो।

तरस रहे हैं बड़ी मुद्दतों से हम,
अपनी मुहब्बत का इज़हार लिख दो,
दीवाने हो जाएँ जिसे पढ़ के हम,
कुछ ऐसा तुम एक बार लिख दो।

Advertisement
Sad Shayari

Sad Barbaadi Shayari Collection

Sad Barbaadi Shayari Collection

Kuchh Log Pasand Karne Lage Hain Alfaaz Mere,
Matlab Mohabbat Mein Barbaad Aur Bhi Huye Hain.
कुछ लोग पसंद करने लगे हैं अल्फाज मेरे,
मतलब मोहब्बत में बरबाद और भी हुए हैं।

Teri Halat Se Lagta Hai Tera Apna Tha Koyi,
Itni Saadgi Se Barbaad Koyi Gair Nahi Karta.
तेरी हालत से लगता है तेरा अपना था कोई,
इतनी सादगी से बरबाद कोई गैर नहीं करता।

...Read More Shayaris

Bewafa Shayari

Bewafa Shayari, Majboori Aur Bewafai

Bewafa Shayari, Majboori Aur Bewafai

Raat Ki Gehrayi Aankhon Mein Utar Aayi,
Kuchh Khwaab The Aur Kuchh Meri Tanhai,
Yeh Jo Palko Se Bah Rahe Hain Halke Halke,
Kuchh Toh Majboori Thi Kuchh Teri Bewafai.
रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।

...Read More Shayaris

Advertisement
Gham Shayari

Gham Shayari, Tere Gham Ki Hifazat

Gham Shayari, Tere Gham Ki Hifazat

Log Parh Lete Hain Aankho Se Dil Ki Baat,
Ab Mujhse Tere Gham Ki Hifazat Nahi Hoti.
लोग पढ़ लेते है आँखों से मेरे दिल की बात,
अब मुझसे तेरे गम की हिफाजत नहीं होती।

Yeh Mayoos Safar Aur Yeh Ghamgeen Shaam,
Main Ruk Toh Jaaun Magar Koi Rokta Nahi.
ये मायूस सफर और ये ग़मगीन शाम,
मैं रुक तो जाऊं मगर कोई रोकता नहीं।

...Read More Shayaris