Two Line Shayari

Advertisement

Two Line Shayari, Kashti Bach Gayi Apni

Heart Touching Two Liner Shayaris in Hindi

Two Line Shayari, Kashti Bach Gayi Apni

Khuda Ya Nakhuda Ab Jisko Chaaho Bakhsh Do Izzat,
Hakiqat Mein Toh Kashti Ittefaqan Bach Gayi Apni.
खुदा या नाखुदा अब जिसको चाहो बख्श दो इज्जत,
हकीकत में तो कश्ती इत्तिफाकन बच गई अपनी।

Kagazon Pe Likh Kar Zaya Kar Dun Main Woh Shakhs Nahi,
Woh Shayar Hun Jise Dilon Pe Likhne Ka Hunar Aata Hai.
कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूँ मैं वो शख़्स नहीं,
वो शायर हूँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है।

[ Read More Shayari ]

Advertisement

Two Line Shayari, Aapki Zulfein

Nice Hindi Two Line Shayaris about Zulfein

Haath Tute Maine Gar Chhedi Ho Zulfein Aap Ki,
Aap Ke Sar Ki Kasam Baad-e-Sabaa Thi Main Na Tha.
हाथ टूटें मैंने गर छेड़ी हों ज़ुल्फ़ें आप की,
आप के सर की क़सम बाद-ए-सबा थी मैं न था।

Mere Junoon Ko Zulf Ke Saaye Se Dur Rakh,
Raste Mein Chhav Paa Ke Musafir Thhehar Na Jaye.
मेरे जुनूँ को ज़ुल्फ़ के साए से दूर रख,
रस्ते में छाँव पा के मुसाफ़िर ठहर न जाए।

[ Read More Shayari ]

Advertisement

Khudkushi Shayari Collection

Heart Touching Khudkushi Shayaris in Hindi

Khudkushi Shayari Collection

Puchha Na Zindagi Mein Kisi Ne Bhi Dil Ka Haal,
Ab Shahar Bhar Mein Zikr Meri Khudkushi Ka Hai.
पूछा न जिंदगी में किसी ने भी दिल का हाल,
अब शहर भर में ज़िक्र मेरी खुदकुशी का है।

Bhule Hain Rafta-Rafta Unhein Muddaton Mein Hum,
Kishton Mein KhudKushi Ka Mazaa Hum Se Puchhiye.
भूले हैं रफ्ता-रफ्ता उन्हें मुद्दतों में हम,
किश्तों में खुदकुशी का मज़ा हम से पूछिए।

Kishton Mein Khudkushi Kar Rahi Hai Yeh Zindgi,
Intezar Tera Mujhe Poora Marne Bhi Nahi Deta.
किश्तों में खुदकुशी कर रही है ये जिन्दगी,
इंतज़ार तेरा मुझे पूरा मरने भी नहीं देता।

[ Read More Shayari ]

Advertisement

Two Line Shayari, Khijaan Kya Bahaar Kya

Meaningful Two Liner Shayais in Hindi

Jiski Kafas Mein Aankh Khuli Ho Meri Tarah,
Uske Liye Chaman Ki Khijaan Kya Bahaar Kya.
जिसकी कफस में आँख खुली हो मेरी तरह,
उसके लिये चमन की खिजाँ क्या बहार क्या।

Kaante Kisi Ke Haq Mein Kisi Ko Gulo-Samar,
Kya Khoob Ehtmaam-e-Gulistaan Hai AajKal.
कांटे किसी के हक में किसी को गुलो-समर,
क्या खूब एहतमाम-ए-गुलिस्ताँ है आजकल।

[ Read More Shayari ]

Advertisement

Faiz Two Line Shayari Collection

फैज़ अहमद फैज़ की दो लाईन शायरी

Faiz Two Line Shayari Collection

Inn Mein Lahu Jala Ho Humara Ki Jaan-o-Dil,
Mehfil Mein Kuchh Chiraag Farozaan Huye Toh Hain.
इन में लहू जला हो हमारा कि जान ओ दिल,
महफ़िल में कुछ चराग़ फ़रोज़ाँ हुए तो हैं।

Phir Najar Mein Phool Maheke Dil Phir Shamayein Jalin,
Phir Tasawwur Ne Liya Uss Bazm Mein Jaane Ka Naam.
फिर नज़र में फूल महके दिल में फिर शम्में जलीं,
फिर तसव्वुर ने लिया उस बज़्म में जाने का नाम।

[ Read More Shayari ]